योनि में खुजली या जलन के उपाय  yoni me khujli ka upay in hindi

0
19
yoni me khujli ka upay in hindi

 योनि में खुजली या जलन के उपाय  yoni me khujli ka upay in hindi

महिलाओं की योनि में खुजली या जलन का मतलब यह हो सकता है कि उन्हें यीस्ट इन्फेक्शन है, जो एक आम बात है। आंकड़ों के मुताबिक, 4 में से 3 महिलाएं अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार इसका अनुभव करती हैं। संक्रमण के साथ योनि में दर्द, झुनझुनी और गंभीर खुजली होती है, जो बेहद असुविधाजनक होती है। इस पोस्ट में हम  योनि में खुजली या जलन के उपाय (yoni me khujli ka upay in hindi) के बारे में जानेंगे ।

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण 25 से 35 वर्ष की आयु की महिलाओं में सबसे आम है। योनि में खुजली कई कारणों से हो सकती है जैसे योनि का सूखापन, साफ-सफाई न रखना, रासायनिक चीजों का उपयोग करना या खराब रेजर का उपयोग करना।

आइए जानते हैं कि योनि में खुजली की समस्या को कैसे दूर किया जा सकता है। yoni me infection ki medicine

योनि में खुजली या जलन की समस्या को दूर करने के लिए बहुत सारे देशी नुख्से हैं जिनकी मदद से योनि की खुजली की समस्या को दूर किया जा सकता है –

नारियल का तेल

एक अध्ययन में पाया गया कि नारियल का तेल कैंडिडा अल्बिकन्स को मार सकता है, जो यीस्ट संक्रमण का कारण बनता है। अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो नारियल तेल को सीधे योनि में लगाएं। लेकिन ध्यान रखें कि नारियल का तेल पूरी तरह से उच्च गुणवत्ता का होना चाहिए। तेल लगाने के बाद पैड पहनें ताकि कपड़े पर कोई दाग न रहे।

यह भी पढ़ें: पहली बार सम्बन्ध बनाने के बाद महिलाओं के शरीर में होने वाले बदलाव 

टी ट्री आयल 

इस तेल में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो खुजली में राहत देते हैं। इसे इस्तेमाल करने के लिए टी ट्री ऑयल की 4 से 6 बूंदें लें और इसे नहाने के पानी में मिलाएं। इतना ही नहीं आप चाहें तो इसे एलोवेरा जेल के साथ मिलाकर अपने प्राइवेट पार्ट पर भी लगा सकती हैं। थोड़ी देर बाद जब यह सूख जाए तो इसे धो लें।

यह भी पढ़ें: महिलाओं की योनि काली क्यों होती है 

नीम के पत्ते

नीम में कई औषधीय गुण होते हैं। यह एंटी फंगल है जो शरीर में विकसित होने वाले संक्रमण को रोकने के लिए जाना जाता है। इसका उपयोग करने के लिए अपने नहाने के पानी में कुछ नीम की पत्तियां मिलाएं और उससे स्नान करें। या फिर नीम की पत्तियों को पानी में 10 मिनट तक उबालें। जब पानी ठंडा हो जाए तो इस पानी से अपने प्राइवेट पार्ट्स को धो लें।

मीठा सोडा

बेकिंग सोडा यीस्ट संक्रमण के साथ-साथ खुजली का भी इलाज कर सकता है। 2014 के एक अध्ययन में पाया गया कि बेकिंग सोडा कैंडिडा कोशिकाओं को मार सकता है। ये वे कोशिकाएं हैं जो यीस्ट संक्रमण का कारण बनती हैं। अगर आप खुजली से परेशान हैं तो रोजाना नहाने के पानी में 1/4 से 2 कप बेकिंग सोडा मिलाएं। और कम से कम 20 से 30 मिनट तक उसी पानी में रहें। इसके अलावा आप इसका पेस्ट बनाकर भी त्वचा पर लगा सकते हैं।

सेब का सिरका

कई लोगों का मानना है कि अगर नहाने के पानी में एप्पल साइडर विनेगर मिलाया जाए तो यीस्ट इन्फेक्शन काफी हद तक ठीक हो सकता है। यह खुजली वाली त्वचा के लिए भी एक आम घरेलू उपचार है। सेब के सिरके में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण होते हैं। इसे लगाने के लिए 1 गिलास पानी में 2 चम्मच सिरका मिलाएं और इससे अपने प्राइवेट पार्ट्स को धोएं।

घरेलू उपायों के अलावा ये तरीके भी अपनाएं-

आमतौर पर दर्द और खुजली 3-4 दिनों के बाद अपने आप ठीक हो जाते हैं। अगर ऐसा नहीं होता है तो अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें। यहां कुछ चीज़ें दी गई हैं जिन्हें आप आज़मा सकते हैं…

  • अपना पुराना रेजर फेंक दें और नया रेजर खरीद लें।
  • कोशिश करें हमेशा सूती कपड़े पहनें।
  • अपनी योनि को साफ करने के लिए बहुत कठोर साबुन का प्रयोग न करें।
  • ढेर सारा पानी पिएं।
  • पीरियड्स के दौरान साफ-सफाई अपनाएं। हर चार घंटे में पैड अवश्य बदलें।
  • जिम या स्विमिंग के बाद तुरंत कपड़े बदलें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here