क्या ओरल सेक्स करना सुरक्षित है?

0
21
Is it safe to have oral sex?

क्या ओरल सेक्स करना सुरक्षित है? Is it safe to have oral sex?

Is it safe to have oral sex? अगर दो नॉर्मल पार्टनर एक दूसरे के साथ ओरल सेक्स करना चाहते हैं तो इसमें कोई अजीब बात नहीं है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी इस पर कोई प्रतिबंध नहीं है। 1600 साल पहले, ऋषि वात्स्यायन ने भी कामसूत्र में लिखा था कि मुख मैथुन न केवल एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, बल्कि यह यौन उत्तेजना बढ़ाने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक साबित हो सकता है।

आज के दौर का विज्ञान भी इस बात का समर्थन करता है कि आंत और योनि से ज्यादा मुंह में बैक्टीरिया होते हैं। इसका मतलब है कि अगर कोई ओरल सेक्स को बैन करना चाहता है तो पहले किसिंग पर बैन लगाया जाए। आधुनिक विज्ञान का मानना ​​है कि अगर पुरुष और महिला दोनों के बीच मुख मैथुन के लिए सहमति हो तो उस पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

कामसूत्र में कहीं भी यह नहीं लिखा है कि हस्तमैथुन या मुख मैथुन एक बीमारी है, लेकिन यह अप्रत्यक्ष रूप से संकेत दिया गया है कि यदि कोई व्यक्ति किसी भी कारण से यौन संबंध नहीं बनाना चाहता है, तो वह बिना किसी झिझक के मुख मैथुन का सहारा ले सकता है। इससे कोई रोग नहीं होता है। ध्यान रखने वाली बात यह है कि ओरल सेक्स में दोनों पार्टनर की मंशा का होना जरूरी है, इसमें कोई जबरदस्ती नहीं होनी चाहिए।

मुख मैथुन क्या है what is oral sex

मुख मैथुन का अर्थ है साथी के जननांगों और गुदा को मुंह और जीभ से उत्तेजित करना। ओरल सेक्स आपकी सेक्सुअल लाइफ में नई ऊर्जा और जोश लाने का भी काम करता है। लेकिन ऐसा करते समय आपको वो सब कुछ करना चाहिए जिससे आपके पार्टनर को अच्छा लगे। सब कुछ करना और हर चीज का उपयोग करना सही नहीं है। मुख मैथुन इसका केवल एक हिस्सा है। इस क्रिया को करने से पहले दोनों भागीदारों को एक दूसरे की इच्छाओं का ध्यान रखना होता है। साथ ही इस क्रिया से प्रेग्नेंट होने का भी कोई खतरा नहीं होता है।

ओरल सेक्स कई तरह से किया जा सकता है। इसमें कई तरह के तरीको को अपनाया जा सकता है। इस प्रकार की क्रिया करने से महिलाओं में गर्भधारण का खतरा नहीं होता है। इसे अपनाकर पुरुष अपनी महिला साथी को आसानी से जगा सकते हैं, वहीं महिलाएं भी पुरुषों द्वारा मुख मैथुन करना पसंद करती हैं। सेक्स लाइफ को और रोमांचक बनाने के लिए ओरल सेक्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस प्रकार की क्रिया स्त्री और पुरुष दोनों कर सकते हैं।

ओरल सेक्स कैसे करें -Is it safe to have oral sex?

क्लिटोरिस महिलाओं की योनि का सबसे संवेदनशील हिस्सा होता है। इस भाग से लगभग 8000 नसें जुड़ी होती हैं। इसके साथ ही महिला का पूरा पेल्विक एरिया जहां सभी जननांगों की नसें जुड़ी होती हैं, को संवेदनशील हिस्सा माना जाता है। जैसे ही योनि की दोनों परतें खुलती हैं, वह भगशेफ ऊपर की ओर दिखाई देता है।

पुरुषों को शुरुआत में इस हिस्से पर अपनी जीभ के ऊपरी हिस्से का धीरे से इस्तेमाल करना चाहिए, उसके बाद इस क्रिया को तेज करते रहें। इसके बाद आप जीभ का अलग-अलग तरह से इस्तेमाल करते हैं और उसकी गति बढ़ाते रहते हैं। ऐसा करते वक्त अपनी फीमेल पार्टनर से ये बात जरूर जान लें कि उन्हें क्या करना पसंद है।

ओरल सेक्स के जोखिम –

ओरल सेक्स करने से कई सारी बिमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

मुख मैथुन के माध्यम से एचआईवी फैलने का जोखिम बेहद कम है। इस प्रकार की क्रिया से मुख मैथुन करने वाले व्यक्ति को यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) और जननांगों और मुंह में घावों का खतरा होता है।

मुख मैथुन में दाद जननांग दाद सूजाक एक प्रकार का संक्रमण है उपदंश में केवल एक प्रकार के अल्सर के संक्रमण और एचपीवी का खतरा रहता है।

इस प्रकार के संक्रमण के लक्षण और लक्षण छाले और दाद हैं। अगर आपके मुंह, जननांग या गुदा में किसी भी तरह के छाले या छाले हैं तो आपको ओरल सेक्स करने से बचना चाहिए। यह आपके संक्रमण का कारण है। इसे ठीक करने के लिए तुरंत डॉक्टर से मिलें। इन संक्रमणों से बचना चाहते हैं तो मुख मैथुन न करें।

एचपीवी क्या है?

एचपीवी (ह्यूमन पैपिलोमा वायरस) यौन संपर्क के दौरान त्वचा के संक्रमण से फैलता है। यह एक वायरल संक्रमण है। एचपीवी 100 से अधिक विभिन्न वायरसों का एक समूह है। यह एक प्रकार का 30 ज्ञात-अज्ञात कैंसर है। वर्तमान में एचपीवी का कोई इलाज नहीं है।

यह त्वचा से त्वचा के संपर्क से फैलता है। जब एक साथी के पास पहले से ही एचपीवी है, तो बीमारी की संभावना 100 प्रतिशत बढ़ जाती है। यह योनि, गुदा या मुख मैथुन से फैलता है। जरूरी नहीं कि एचपीवी से संक्रमित होने के तुरंत बाद लक्षण दिखाई दें। इसमें एक सप्ताह से लेकर एक साल तक का समय लग सकता है। कुछ मामलों में लक्षण कभी दिखाई नहीं देते हैं।

ओरल सेक्स के बारे में -Is it safe to have oral sex?

ओरल सेक्स एक पुरुष और एक महिला के बीच एक दूसरे के साथ संभोग की प्रक्रिया है।

इससे से गर्भधारण नहीं होता है।

कुछ जोड़े ऐसी शारीरिक स्थिति बनाते हैं जिसमें ये दोनों क्रियाएं एक साथ की जाती हैं।

ओरल सेक्स आपसी सहमति और जोड़े के आनंद के उद्देश्य से किया जाता है।

कुछ लोग इसे उत्तेजना बढ़ाने के साधन के रूप में उपयोग करते हैं, जबकि कुछ लोग इसका उपयोग स्खलन या संभोग सुख प्राप्त करने के तरीके के रूप में करते हैं। कुछ लोग इसे अप्राकृतिक मानते हुए इसे पसंद नहीं करते हैं।

कुछ धर्मों में इसे वर्जित बताया गया है।

ओरल सेक्स करने से मुख में होने वाली बिमारियों का खतरा बढ़ा जाता है। इसलिए ओरल सेक्स से बचना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here